सुकन्या समृद्धि योजना (SSY): योग्यता, ब्याज दर, फायदे और नियम - हिंदी समाचार | News in Hindi
Sukanya Samriddhi Yojana
Sukanya Samriddhi Yojana

सुकन्या समृद्धि योजना (SSY): योग्यता, ब्याज दर, फायदे और नियम

Sukanya Samriddhi Yojana या सुकन्या समृद्धि योजना बालिकाओं के लाभ के लिए भारत सरकार का “बेटी बचाओ, बेटी पढाओ योजना” का एक अंग है। 10 साल से काम आयु के बालिकाओं के माता-पिता द्वारा ये एकाउंट खोला जा सकता है।

यदि माता-पिता के दो से अधिक 10 साल से कम की लड़किया हैं तो वे तीसरे और चौथे लड़कियों के लिए नहीं खोल सकते हैं। यानि की माता-पिता केवल दो एकाउंट हीं खोल सकते हैं।

इन एकाउंट्स का समय अवधी लड़की के 21 साल होने या विवाह के समय यानि की 18 साल ही है। यानी लड़की के कम से कम 18 साल के होने के बाद ही पैसे की निकासी हो सकती है। इन पैसों का उपयोग लड़की की पढाई या शादी करने के लिए है।

सुकन्या समृद्धि योजना डिटेल्स में:

  • सुकन्या समृद्धि योजना (SSY) व्याज दर
  • सुकन्या समृद्धि योजना (SSY) के योग्यता
  • सुकन्या समृद्धि योजना (SSY) कैसे खोलें
  • सुकन्या समृद्धि योजना (SSY) एप्लीकेशन फॉर्म डाउनलोड करें
  • सुकन्या समृद्धि योजना (SSY) एप्लीकेशन फॉर्म कैसे भरें
  • सुकन्या समृद्धि योजना (SSY) के लाभ
  • सुकन्या समृद्धि योजना (SSY) की बैलेंस चेक कैसे करें
  • सुकन्या समृद्धि योजना (SSY) के टैक्स नियम
  • सुकन्या समृद्धि योजना (SSY) खाते का ट्रांसफर
  • सुकन्या समृद्धि योजना का व्याज दर

    सुकन्या समृद्धि योजना का व्याज दर जनवरी-मार्च 2019 (Q4, FY 2018-19) के लिए ब्याज दर 8.5% है। इस योजना का ब्याज दर सरकार द्वारा हर तिमाही में समीक्षा की जाती है।
    पिछले कुछ तिमाही का ब्याज दर निम्न प्रकार से है:

    समय अवधीब्याज दर (%)
    Jan to March 2019 (Q4 FY 2018-19) 8.5
    Oct to Dec 2018 (Q3 FY 2018-19) 8.5
    Jul to Sep 2018 (Q2 FY 2018-19) 8.1
    Apr to Jun 2018 (Q1 FY 2018-19) 8.1
    Jan to March 2018 (Q4 FY 2017-18) 8.1
    Oct to Dec 2017 (Q3 FY 2017-18) 8.3
    Jul to Sep 2017 (Q2 FY 2017-18) 8.3
    Apr to Jun 2017 (Q1 FY 2017-18) 8.4

    सुकन्या समृद्धि योजना (SSY) के योग्यता

    • सुकन्या समृद्धि योजना खाता केवल बालिका के माता-पिता या कानूनी अभिभावकों द्वारा बालिकाओं के नाम से खोला जा सकता है।
    • खाता खोलने के समय बालिका की आयु 10 वर्ष से कम होनी चाहिए।
    • एक ही बालिका के लिए एक से अधिक खाते नहीं खोले जा सकते हैं।
    • एक परिवार से केवल दो खाते ही खोले जा सकते हैं। प्रत्येक बालिका के लिए अलग-अलग खाते खोले जाएंगे।

    सुकन्या समृद्धि योजना (SSY) कैसे खोलें

    अपने नजदीकी पोस्टऑफिस या इस योजना से जुड़े किसी भी सरकारी या प्राइवेट बैंकों के माध्यम से खोला जा सकता है। इसके लिए आपको KYC डाक्यूमेंट्स जैसे की पासपोर्ट, आधार कार्ड इत्यादि साथ ही आवेदन फॉर्म और प्रारम्भिक जमाराशि को चेक या ड्राफ्ट के माध्यम से जमा करना है। माता-पिता एवं बालिका के KYC डाक्यूमेंट्स ले जाना ना भूलें।

    सुकन्या समृद्धि योजना (SSY) एप्लीकेशन फॉर्म डाउनलोड करें

    सुकन्या समृद्धि योजना के नये आवेदन पत्र के लिये डाक घर पर जाकर या सरकारी/प्राइवेट बैंक से भी प्राप्त किया जा सकता है। साथ ही ये फॉर्म ऑनलाइन भी उपलब्ध है और इसको आरबीआई के वेबसाइट से डाउनलोड किया जा सकता है।
    सुकन्या समृद्धि योजना आरबीआई के वेबसाइट से डाउनलोड यहां से करें
    इसके आलावा इंडिया पोस्ट की वेबसाइट और सरकारी बैंको के वेबसाइट के माध्यम से भी किया जा सकता है।

    सुकन्या समृद्धि योजना (SSY) एप्लीकेशन फॉर्म कैसे भरें

    यदि फॉर्म ऑनलाइन डाउनलोड करें है तो प्रिंट-आउट निकाल ले फिर ध्यान से पढ़ें। इसमे बालिका और माता-पिता/अभिभावक के डिटेल्स की आवश्यकता होती है।
    SSY एप्लीकेशन फॉर्म को भरें:

    • बालिका का नाम (प्राथमिक खाता धारक)
    • खाता खोलने वाले माता-पिता / अभिभावक का नाम (संयुक्त धारक)
    • प्रारंभिक जमा राशि
    • चेक / डीडी नंबर और दिनांक (प्रारंभिक जमा के लिए उपयोग किया जाता है)
    • बालिका की जन्म की तारीख
    • प्राथमिक खाताधारक का जन्म प्रमाण पत्र विवरण (प्रमाण पत्र संख्या, जारी करने की तारीख, आदि)
    • अभिभावक / अभिभावक (ड्राइविंग लाइसेंस, आधार, आदि) का आईडी विवरण
    • वर्तमान और स्थायी पता (माता-पिता / अभिभावक के आईडी दस्तावेज के अनुसार)
    • किसी भी अन्य केवाईसी दस्तावेज (पैन, वोटर आईडी कार्ड, आदि) का विवरण

    एक बार सभी डिटेल्स भरे जाने के बाद, फॉर्म को सभी जरुरी दस्तावेजों की फोटो कॉपी के साथ खाता खोलने के अधिकारी (पोस्ट ऑफिस / बैंक शाखा) के साथ हस्ताक्षरित करवा कर जमा करना होगा।

    सुकन्या समृद्धि योजना (SSY) के लाभ

    बेटी बचाओ, बेटी पढाओ योजना के हिस्से के रूप में शुरू की गई सुकन्या समृद्धि योजना (SSY) निवेशकों को कई प्रकार के लाभ प्रदान करती है। SSY योजना में निवेश के लाभ निम्न प्रकार से है:

    • धारा 80 सी के तहत सालाना 1.5 लाख रुपये तक कर में कटौती का लाभ प्रदान करता है।
    • 250 रुपये प्रति वर्ष न्यूनतम जमा राशि के साथ लचीला निवेश विकल्प। (अधिकतम 1.5 लाख प्रति वर्ष)
    • भारत सरकार द्वारा समर्थित गारंटी रिटर्न साधन (संप्रभु गारंटी)
    • PPF जैसी अन्य सरकारी-समर्थित कर बचत योजनाओं की तुलना में रिटर्न की उच्च निश्चित दर (Q4 FY 2018-19 के लिए वर्तमान में 8.5% प्रति वर्ष) है।
    • दीर्घकालिक निवेश इसलिए कंपाउंडिंग का लाभ प्रदान करता है
    • सुकन्या का संचालन करने वाले माता-पिता / अभिभावक के स्थानांतरण के मामले में देश के एक हिस्से से दूसरे (बैंक / डाकघर) में स्वतंत्र रूप से स्थानांतरित किया जा सकता है

    सुकन्या समृद्धि खाता पासबुक अपडेट/बैलेंस चेक/ऑनलाइन बैलेंस चेक

    किसी भी SSY खाता धारक के अभिभावक खाते के पासबुक को सम्बंधित बैंक में जाकर करवा सकता है। साथ ही बैलेंस की जानकारी भी ले सकते हैं। यदि अकाउंट ऑनलाइन बैंकिंग से जुड़ा है तो आप उसकी जानकारी ऑनलाइन भी ले सकते हैं।

    यदि आपका खाता इंडिया पोस्ट से खुला है तो इसकी जानकारी फ़िलहाल ऑनलाइन उपलब्ध नहीं है तथा इसकी जानकारी के लिए पोस्ट ऑफिस शाखा ही जाना होगा।

    सुकन्या समृद्धि योजना (SSY) खाते के लिए न्यूनतम और अधिकतम राशि

    सुकन्या समृद्धि खाते का न्यूनतम वार्षिक जमा राशि 250 रुपये है और अधिकतम एक वित्तीय वर्ष में 50 लाख रुपये है।
    आपको खाता खोलने की तारीख से 15 साल तक हर साल कम से कम न्यूनतम राशि का निवेश करना होगा।
    उसके बाद खाते के समय अवधी पुरे होने तक ब्याज की राशि मिलती रहेगी।

    सुकन्या समृद्धि योजना खाते का कार्यकाल

    सुकन्या समृद्धि योजना खाते का कार्यकाल बालिका की आयु 21 वर्ष या उसके विवाह की आयु (18 वर्ष) हो।
    हालांकि आपको केवल 15 वर्षों के लिए राशि जामा किए जाने की आवश्यकता है। इसके बाद खाते की समय अवधी के बाद ब्याज मिलना जारी रहता है, भले ही इसमें कोई राशि जमा न किया जा रहा हो।

    सुकन्या समृद्धि योजना (SSY) जमा राशि की कैलकुलेशन का उदाहरण

    मान लें की आप:
    वार्षिक निवेश कर रहें हैं = 1 लाख रुपये
    निवेश की अवधि = 15 वर्ष
    15 वर्षों के अंत में निवेश की गई कुल राशि = 15 लाख रुपये
    मान लीजिये ब्याज की राशि 8% है तो 15 साल के अंत में कुल राशि होगी = 28.32 लाख रुपये।
    इस तरह लॉन्ग टर्म में गारंटेड रिटर्न के साथ आप अपने पैसे को लगभग दुगुना कर सकते हैं।

    सुकन्या समृद्धि योजना के टैक्स नियम

    टैक्स की दृश्टिकोण से SSY एक EEE (Exempt, Exempt, Exempt) इन्वेस्टमेंट है। इसका मतलब आपने जो राशि जमा किये है और उस राशि पर मिले ब्याज टैक्स फ्री है।

    सुकन्या समृद्धि योजना के मौजूदा कराधान नियमों के तहत, निवेश की गई मूल राशि पर कर कटौती का लाभ आयकर अधिनियम, 1961 की धारा 80 सी के तहत प्रति वर्ष 1.5 लाख रुपये तक है।

    आंशिक जमाधन निकासी

    उच्च शिक्षा के खर्च के लिए 18 वर्ष की आयु प्राप्त करने के बाद लड़की आंशिक निकासी सुविधा (शेष राशि का 50% से अधिक नहीं) का लाभ उठा सकती है।

    सुकन्या समृद्धि खाते का समय से पहले बंद करना

    शादी के खर्च के लिए 18 वर्ष की आयु प्राप्त करने पर केवल बालिका द्वारा ही समय से पहले शादी समय खर्च की जाने वाले राशि के रूप में ली जा सकती है।

    सुकन्या समृद्धि योजना खाते पर लोन

    मौजूदा नियमों के तहत, सुकन्या समृद्धि खाते में उपलब्ध शेष राशि के आधार पर ऋण प्राप्त करने का कोई विकल्प नहीं है।

    सुकन्या समृद्धि योजना खाते का ट्रांसफर

    सुकन्या समृद्धि योजना खाते के प्रमुख लाभों में से एक यह तथ्य है कि यह भारत के एक हिस्से से दूसरे हिस्से में आसानी से ट्रांसफर किया जा सकता है।

    मौजूदा नियमों के तहत, आप इस टैक्स सेविंग डिपॉजिट अकाउंट को एक इंडिया पोस्टऑफिस से दूसरे में या एक नामित बैंक शाखा से दूसरे में आसानी से ले जा सकते हैं।

    पोस्ट ऑफिस से अपने SSY खाते के ट्रांसफर की शुरुआत करने के लिए, आपको भारत डाकघर के पोस्ट मास्टर के साथ सुकन्या समृद्धि खाता ट्रांसफर अनुरोध फॉर्म जमा करना होगा जहां आपका खाता वर्तमान में स्थित है।

    यदि आप सुकन्या जमा को एक नामित बैंक शाखा से दूसरे में स्थानांतरित करना चाहते हैं तो इसी तरह के ट्रांसफर फॉर्म ऑनलाइन और ऑफलाइन भी उपलब्ध हैं।


    सम्बंधित खबरें

      Leave a Reply

      Your email address will not be published. Required fields are marked *

      *

      *

      *

      वायरल-न्यूज़

      पोपुलर न्यूज़

    • वॉयरल सच: स्कूल जाने के लिए बच्चों का प्लास्टिक बैग में नदी पर करने का
    • सुकन्या समृद्धि योजना (SSY): योग्यता, ब्याज दर, फायदे और नियम
    • बजाज पल्सर 125 काम दाम में स्टाइलिश बाइक जल्द होगा लांच
    • Intercontinental Cup 2019: इंडिया Vs नार्थ कोरिया अपडेट
    • दिल्ली: ऑटो चालक हरजिंदर सिंह ने दुर्घटना पीड़ितों की जान बचाने के लिए अपनी ऑटो को एंबुलेंस में बदल दिया